Shri Sadguru Satam Maharaj








श्रीराम नवमी
(चैत्र शु. ९)
श्री गुरू पौर्णिमा
(आषाढ शु. पौर्णिमा)
श्री गुरू द्वादशी
(अश्र्विन कृ. १२)
श्री दत्त जयंती
(कार्तिक शु. पौर्णिमा)
श्री गुरू प्रतिपदा
(माघ कृ. १)
श्री महाशिवरात्री
(माघ शु. १३)
श्री साटम महाराज की पुण्यतिथी
(फाल्गुन कृ. २ (तुकारामबीज))
श्री गुरु द्वादशी, श्री महाशीवरात्री और श्री महाराज पुण्यतिथी इन दिनों श्री समर्थ की डोली निकलती है. इन दिनों श्री महाराज का समाधी मंदिर भक्तों के लिये रातभर खुला रहता है. हजारो की संख्या में भाविक रत्नागिरी, मालवण, वेंगुर्ला, गोवा, बांदा और मुंबई से दाणोली गॉंव में आते है और गॉंव कों यात्रा (जुलूस) का रुप आता है. इन दिनों भाविक श्री महाराज की भक्ति में दंग हो जाते है, जैसे पंढरपुर का आभास होता है.
श्री सदगुरू साटम महाराज की पालखी